बिटकॉइन क्या है | Bitcoin Kya Hai बिटकॉइन कैसे काम करती है और बिटकॉइन कितनी सुरक्षित है, पूरी जानकारी हिंदी में

Share This Information

Bitcoin Kya Hai
Bitcoin Kya Hai

बिटकॉइन क्या है | Bitcoin Kya Hai, बिटकॉइन कैसे काम करती है और बिटकॉइन कितनी सुरक्षित है, पूरी जानकारी हिंदी में

Bitcoin Kya Hai: नमस्कार दोस्तो, आज की इस पोस्ट में हम ‘बिटकॉइन क्या है (Bitcoin Kya Hai), बिटकॉइन कैसे काम करती है और बिटकॉइन कितनी सुरक्षित है’ इसके में बारे जानेंगे वो भी हिंदी में। अगर आप भी बिटकॉइन (Bitcoin Currency Kya Hai) के बारे में अच्छे से समझना चाहते है तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े। हम गारन्टी लेते है इसको पढ़ने के बाद आपको किसी दूसरी पोस्ट को पढ़ने की जरुरत नहीं पड़ेगी। तो अब हम सबसे पहले Bitcoin के बारे में जानेंगे कि यह बिटकॉइन क्या होता है “What Is Bitcoin”

बिटकॉइन क्या है | Bitcoin Kya Hai

Bitcoin Kya Hai – आप सब तो जानते है की इंडिया के अंदर रूपए का यूज़ होता है, UK में Pound का यूज़ होता है, अगर बात की जाये USA (United States Of America) की तो वहा पर डॉलर ( $ ) का यूज़ होता है। इसी तरह Bitcoin का भी कुछ देशो में यूज़ होता है। क्योकि बिटकॉइन भी एक करेंसी ही है।

आपकी जानकारी के लिए आपको बतादे की हम इंडियन रूपए से हर प्रकार की ट्रांजैक्शन कर सकते है और हम इसको फिजिकली टच करके भी देख सकते है ( जैसे की हम इंडियन रूपए को छू सकते है ) लेकिन बिटकॉइन को हम कभी भी टच नहीं कर सकते। Bitcoin Kya Hai

आपको जानकर अति हर्ष होगा की ये है तो रूपए के जैसा परन्तु इसका कोई नॉट या फिर सिक्का नहीं है ये एक ऑनलाइन करेंसी है। यही कारण है की बिटकॉइन ‘Bitcoin’ को क्रिप्टो करंसी (Crypto Currency) कहा जाता है। ये कभी भी फिजिकली टच एडजस्ट नहीं करता। इसलिए इसको डिजिटल फॉर्म भी बोलै जाता है।

आपको एक उदाहरण के तोर पे समझाता हूँ की जैसे पहले पुराने समय में लोगो के पास कंपनी के शेयर सर्टिफिकेट “Share Certificate” होते थे। लेकिन आज के समय में हमारे पास मोबाइल ऐप में Shares होते है। तो उसी तरह अगर हमारे पास एक या दो लाख रुपए है तो हमे उस एक या दो लाख रुपए के नोट को रखने की जरूरत नहीं है।

आप अपने मोबाइल ऐप ‘Mobile App’ में किसी बैंक में एक लाख रूपये रख सकते हो और बिना बैंक में जाए आप मोबाइल ऐप से ट्रांजेक्शन कर सकते हो। तो इसी तरह की बिटकॉइन भी एक ऐसी ऑनलाइन करंसी है जो सिर्फ ऑनलाइन फॉर्म में ही काम करती है।

दोस्तों अब तक हमने जाना की बिटकॉइन क्या है (Bitcoin Kya Hai) और अब हम जानेंगे की ‘बिटकॉइन कैसे काम करता है Bitcoin Kaise Kaam Karta Hai‘ वो भी एक उदाहरण के जरिये।

 

बिटकॉइन कैसे काम करता है? Bitcoin Kaise Kaam Karta Hai?

चलिए दोस्तों अब हम जानते है की (Bitcoin Kya Hai) बिटकॉइन कैसे काम करता है? Bitcoin Kaise Kaam Karta Hai? और उस हम बिटकॉइन को कैसे यूज़ कर सकते है। एक उदाहरण के तोर पर – आप मान लो की आपके पास 2 लाख रूपए है और आप उन दो लाख रूपए के डॉलर्स ‘ $ ‘ खरीदना चाहते है तो आपको 74 रूपए एक डॉलर का पे ( Payment ) करना होगा। इसी तरह अगर आपको एक बिटकॉइन (Bitcoin Purchase) को खरीदना है तो उसके लिए आपको कम से कम 40 लाख (4 Million) रूपए का खर्चा होगा।

दोस्तों आप अब ये सोच रहे होंगे की इस करेंसी की वैल्यू इतनी ज्यादा बढी कैसे? | क्या सच में ही इतनी वैल्यू है इस करेंसी की, तो चलिए अब हम इसको और भी अच्छे से जानते है। इस करेंसी की वैल्यू के बारे में जानने के लिए सबसे पहले हमें यह समझना होगा कि बिटकॉइन इनवेन्ट कैसे हुआ और यह काम कैसे करता है।

उदाहरण के तोर पर – अगर मान लो की एक स्कूल की क्लास में 100 बच्चे है और उस क्लास के मास्टर ने सभी बच्चो से मैथ का एक प्र्शन पूछा की जो भी इस प्र्शन का सबसे पहले उत्तर देगा उस बच्चे को एक रिवॉर्ड पॉइंट दिया जायेगा। Bitcoin Kya Hai

ये भी उसी तरह है जैसे की आप किसी क्रेडिट कार्ड के द्वारा शॉपिंग करते हो तो आपको बैंक की तरफ से प्वाइंट्स मिलते या फ्लिपकार्ट की वेबसाइट से शॉपिंग करते हो तो आपको फ्लिपकार्ट की तरफ से सुपर Coins दिए जाते है। या फिर आप किसी भी वेबसाइट और किसी भी स्थान से शॉपिंग करने पर आपको उनके कुछ प्वाइंट्स दिए जाते है जो आपके जमा करने पर आगे चलकर आपक उनसे शॉपिंग कर सकते हो, या फिर और भी बहुत कुछ।

इसी प्रकार लोग बिटक्वाइन के ट्रांजैक्शन को कंप्लीट करने के लिए उनकी मैथ की प्रॉब्लम सॉल्व (Problem Solve) करते जिनको माइनर्स कहते है। और इस तरह ही उनको रिवॉर्ड बिटकॉइन मिलता है।

तो इसीलिए जिसने भी बिटकॉइन को बनाया है उसने इस बिटकॉइन को इस तरह से बनाया है की जब भी एक इंसान की भी दूसरे इंसान को ऑनलाइन बिटकॉइन ट्रांसफर करता है तो यहां पर हमको इस ट्रांसफर को लेने के लिए किसी थर्ड पार्टी ‘Third Party’ की जरूरत कभी भी नहीं पड़ती।

आपकी जानकारी के लिए आपको बतादे की हम जब भी पेटीएम, बैंक या फिर किसी भी मोड से कही पर भी ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करते है तो उसके लिए हमे कुछ फ़ीस चुकानी पड़ती है। Bitcoin Kya Hai

लेकिन हमे उस पे को इस्तेमाल करने के लिए बिटकॉइन के अंदर किसी भी थर्ड पार्टी को अपनी जेब से कोई भी फ़ीस पे नहीं करनी पड़ती। क्योकि माइनर्स को जो भजि बिटकॉइन ‘Bitcoin’ दिए जाते है वो सभी बिटकॉइन के रिजर्व से दिए जाते है।

अगर आपने कभी भी बिटकॉइन ट्रांजैक्शन ‘Bitcoin Transaction’ किया होगा तो आपको पता ही होगा की जब भी किसी प्रकार का कोई भी ट्रांजैक्शन होता है तो बिटकॉइन के द्वारा बनाया गया एल्गोरिदम एक बहुत ही डिफिकल्ट क्वेश्चन क्रिएट (Create Difficult Question) करता है जिसके लिए माइनर्स को बहुत ही बड़े हाई लेवल के कंप्यूटर चाहिए ताकि जिस माइनर्स का कंप्यूटर सबसे पहले उसकी प्रॉब्लम को सॉल्व कर पाएगा उसको एक रिवार्ड्स दिया जाता है जिसको हम बिटकॉइन बोलते है।

दोस्तों अब हमने जाना की बिटकॉइन कैसे काम करता है? Bitcoin Kaise Kaam Karta Hai? और अब हम बिटकॉइन का मूल्य क्या है उसके बारे में समझेंगे।

बिटकॉइन का मूल्य क्या है | Bitcoin Ka Mulya Kya Hai

Bitcoin Kya Hai – अब हम जानते है की (बिटकॉइन का मूल्य क्या है | Bitcoin Ka Mulya Kya Hai ) अगर ये रिवॉर्ड प्वाइंट कोई एक्सेप्ट ही नहीं कर पायेगा तो ये माइनर्स ईतनी मेहनत और इतने इनवेस्टमेंट करेंगे ही क्यों? | Cryptocurrency Bitcoin Price.

अगर बात की जाये सन 2009 की तो उस समय में बिटकॉइन की कोई भी वैल्यू नहीं थी। ये बिटकॉइन किसी भी काम का नहीं था। और जहां तक बिटकॉइन की बात की जाये तो 2009 में एक इंसान ने 10 हज़ार बिटकॉइन से सिर्फ दो पिज़्ज़ा ऑर्डर किये थे क्योकि उस समय बिटकॉइन का कुछ भी मूल्य नहीं था।

परन्तु आज के समय में एक बिटकॉइन के मूल्य की बात की जाये तो लगभग 40 लाख के आसपास है। और कहीं इसे ज्यादा भी हो सकती है। (bitcoin ka aaj ka rate kya hai)

बिटकॉइन मूल्यवान है क्या? | Crypto News

अब आप सब के दिमाग में ये सवाल आ रहा होगा की क्या सच में ही बिटकॉइन इतना वैल्यूबल है? क्या सच में बिटकॉइन मूल्यवान है? तो चलिए हम इसको थोड़ा सा अच्छे से समझते है।

अब हम बिटकॉइन इतना वैल्यूबल है इसको समझने की कोशिश करते है तो रूपए का मेन इस्तेमाल होता है की हम सब इसके द्वारा वैल्यू को स्टोर या एक्सचेंज कर सकते है। जैसे की कोई मजदुर पर काम करता है और उसके काम ख़त्म करने पर आप उसको वैलुएबल रूपए देते है।

उसके बाद वो मजदुर उन रूपए से किसी और सामान को खरीद सकता है। जो उस मजदुर के लिए वैलुएबल होगा। और ऐसे ही हम रूपए के जरिये अपनी वैल्यू ट्रांसफर करते है। इसी कारण बिटकॉइन मूल्यवान है।

हमने जानना की ‘बिटकॉइन मूल्यवान है क्या? | और हम हम जानने वाले है की ( क्या बिटकॉइन सुरक्षित है ) क्या बिटकॉइन का इस्तेमाल करना हमारे लिए सही है। तो चलिए अब हम इसे अच्छे से समझते है।

क्या बिटकॉइन सुरक्षित है | Kya Bitcoin Surkshit Hai?

तो चलिए अब हम ‘क्या बिटकॉइन सुरक्षित है | Kya Bitcoin Surkshit Hai‘ इसको थोड़ी सी आसानी से समझते है। अगर आप उजर्स की हिस्टरी को चेक करोगे तो आप देख पाओगे की हम सब इस वैल्यू को अलग अलग तरीके से एक्सचेंज और स्टोर करते आ रहे है।

अगर पुराने समय की बात की जाए तो एक समय में इंसान गोल यूज़ करते थे, एक समय में इंसान गेहूं,शेल्स, नमक जैसी चीजें यूज करते थे। परन्तु जहां पर रूपए की बात आती है तो इसमें एक छोटी सी प्रॉब्लम है वो इस प्रकार है की जब से ये दुनिया बनी है, जब से लोग इस दुनिया में रहने लगे है तब से लेकर पिछले कई सालो तक हम सब किसी ना किसी चीज़ पर भरोसा करके उस पर निर्भर रहते है। Bitcoin Kya Hai

उस वैल्यू को स्टोर करने के लिए और एक्सचेंज करने के लिए हमने जैसे अभी डिस्कस किया इन सब चीजों पे। लेकिन रिसेंटली ये भरोसा इन्सान किसी चीज के बदले किसी एक पार्टी पे करने लगे यानी जो इस नोट को छापती है यानी की हमारी गवर्मेंट। यही कारण है की हमें कुछ प्रॉब्लम फेस करने को मिल रहे हैं।

क्योंकि अगर हम लोग किसी एक पार्टी को रूपए छापने का पावर दे रहे तो हम बेसिकली उसे सारा पावर ( Complete Power ) दे रहे है। और जब भी उस पावर को यूज किया जाएगा तो हो सकता है कि वो उसे ईमानदारी से यूज़ ना करे। क्या किसी के फेवर में थोड़ा कम यूज करें और क्या किसी के फेवर में ज्यादा। आप सब को पता होगा कि 2008 में एक बहुत बड़ा मार्केट क्रैश हुआ था। परन्तु इसके एक्चुअल रीजन के बारे में बहुत ही कम लोगों को पता होगा।

अगर आप सब (Bitcoin Kya Hai) एक्चुअली रीज़न के बारे में अच्छे से जानना चाहते है तो निचे पढ़ो –

2008 में जो बड़ा मार्केट क्रैश हुआ था उसका एक्चुअली रीज़न ये था की यूएस (United States of America) के कुछ बैंक्स लालची हो गए थे वो लोगो अनैतिकली होम लोन दे रहे थे वो जिनको होम लोन दे रहे थे वो ऐसे लोग थे जो अपनी कभी भी ईएमआई पे नहीं कर सकते थे।

क्योंकि बैंक के टॉप एग्जिक्यूटिव्स को एक चीज़ बहुत ही अच्छे से समझ आ गई थी कि अगर हम ज्यादा प्रॉफिट कमाएंगे तो प्रॉफिट सिर्फ हमारा ही होगा परन्तु अगर बाय चांस हम कभी लॉस में भी जाते है और हमे बैंकरप्सी की नौबत आती है तो गवर्मेंट तो है ही। क्योकि गवर्मेंट हमारी मदद जरूर करेगी और इससे हमारा कुछ भी लॉस नहीं होगा।

इसीलिए जब मार्केट क्रैश हुआ तो यूएस (United States of America) के सेंट्रल बैंक ने ट्रिलियन डॉलर्स प्रिंट किए और बहुत सारी कंपनीज को डूबने से बचाया। लेकिन अगर देखा जाये तो वो कंपनी तो बच गई लेकिन नुकसान मिडिल क्लास लोगों का हो गया। और इसका असर सबसे ज्यादा मिडिल क्लास के लोगो पर ही हुआ था।

अगर आप सोच रहे हो की इसमें हम मिडिल क्लास के लोग नुकसान कैसे हुआ? तो दोस्तो आपकी जानकारी के लिए आपो बता दे जब भी गवर्मेंट में नोट प्रिंट की प्रिंटिंग होती है तो उसे इन्फ्लेशन बढ़ता है यानि की महंगाई बहुत बढ़ती है और जो भी लोग सेविंग्स करते है उनका परचेजिंग पावर कम होता है मतलब उनके हाथ में पैसे उतने ही रहेंगे परन्तु दिन पार्टी दिन वो कम चीज़ों को खरीद पाएंगे।

तो इसीलिए जब भी किसी प्रकार का कोई भी पावर किसी एक एंटिटी के हाथ में आएगा तो करप्शन के चांसेज भी बढ़ेंगे और ये भी तय है की कुछ स्मार्ट लोग उसका फायदा उठा के निकल जाएंगे और जो मिडिल क्लास लोग है वो उसका नुकसान भरते रह जाएंगे।

यहीं कारण है की इसीलिए बिटकॉइन करेंसी का सबसे बड़ा बेनिफिट ये है कि जो भी इसको सपोर्ट करते है वो इसे पीपल्स करेंसी मानते है। इसको कोई भी गवर्मेंट और ज्यादा प्रिंट नहीं कर सकती और ना ही कंट्रोल कर सकती है। ‘Bitcoin Kya Hai’

बिटकॉइन करेंसी का जो भी रेट ऊपर नीचे हो रहे ये लोग खुद की डिमांड और सप्लाई से हो रहा है। क्योंकि इसकी एक लिमिट सेट की गई है कि ये बिटकॉइन 21 मिलियन ही रहेंगे।

इससे गवर्मेंट सिर्फ और सिर्फ इसे बैन कर सकती है। लेकिन अब बहुत सारे लोग ऑलरेडी इसे यूज कर रहे है और ट्रांजैक्शन करने के लिए और अगर आप चाहो तो आप अपनी खुद की भी क्रिप्टो करेंसी बना सकते हो और उसको भी आप लेन देन के लिए ऑनलाइन यूज कर सकते हो

अगर उजर्स आपकी क्रिप्टो करेंसी को पेमेंट के लिए एक्सेप्ट करते है तो। लेकिन जब बिटकॉइन सक्सेसफुल ( Bitcoin Successful ) हो चुका है और उसे कुछ कंट्रीज एक्सेप्ट ‘Country Accept’ भी कर रहे है तो लोग आपकी नई करंसी को यूज क्यों करेंगे?

Bitcoin Kya Hai – अब आप सब ये जान ही गए होंगे की इसीलिए बिटकॉइन की वैल्यू सबसे ज्यादा बड़ी है क्योकि बिटकॉइन वर्ल्ड का पहला ऑनलाइन करेंसी है। और अगर आने वाले समय में कोई और दूसरी करेंसी की लोग मांग करने लग गए तो बिटकॉइन की जो आज वैल्यू है वो डाउन भी हो सकती है। तो इसीलिए उजर्स के लिए बिटकॉइन इनवेस्टमेंट रिस्की हो सकता है। क्योकि कोई भी नहीं जानता की आगे चलकर इसकी वैल्यू यही रहने वाली है या फिर डाउन होने वाली है।

लेकिन ये टेक्नॉलजी ये बहुत ही अच्छी है क्योंकि इससे सच में एक रियल प्रॉब्लम को बहुत ही अच्छे तरीके से सॉल्व कर दिया है। तो इसीलिए अब इस टेक्नोलॉजी को देख सकते हैं कि ये कैसे काम करती है और इसे ट्रांजैक्शन कैसे होते है। तो चलिए दोस्तों, अब हम बिटकॉइन कैसे खरीदें? | Bitcoin Kaise Kharide? थोड़ा सा इसको और समझ लेते है।

बिटकॉइन कैसे खरीदें? | Bitcoin Kaise Kharide?

अगर आपने कभी बिटकॉइन का यूज़ किया है तो आपको पता ही होगा की सन 2018 में आरबीआई ( RBI ) ने बिटकॉइन ‘Bitcoin Ban’ को बैन कर दिया था। परन्तु अब आरबीआई ने बिटकॉइन को दोबारा से लिफ्ट कर दिया है। और यही कारण है की आज के समय में हमारे पास इस्तेमाल करने के लिए बहुत सारे क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज (Crypto Currency Exchange) और मोबाइल एप्लीकेशन ‘Mobile Application’ आ गए है। जहा से अब आप सब दूसरी क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन को खरीद सकते हो। “Bitcoin Kya Hai

अगर आप भी बिटकॉइन खरीदना चाहते है तो इन मे से एक है Coins witch Kuber। जो अगर देखा जाए तो इंडिया के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज (Crypto Exchange) में से एक है। और आपको बतादे की लगभग 10 महीनो के अंदर 60 लाख से ज्यादा लोगों ने इसको ज्वाइन कर लिया है।

ज्यादातर बिटकॉइन एक्सचेंज के लिए इसी ऐप का इस्तेमाल किया जाता है। इस एप्प के द्वारा आप 75 से भी अधिक क्रिप्टो करेंसी खरीद सकते है। जहा तक इनके KYC की बात की जाये तो इनका केवाईसी प्रोसेस बहुत ही फ़ास्ट है। इस में पर आप 100 रूपए से भी शुरुआत कर सकते हैं।

इनकी सिंपल यूआई ‘ UI ‘ की वजह से बिटकॉइन खरीदना ( Bitcoin Purchase ) काफी आसान हो गया है। जैसे आप ऑनलाइन फ़ूड ऑर्डर ‘Online Foods order’ करते हैं और आप अपने डिपॉजिट ‘Deposit’ और विथड्रॉ ‘Withdraw’ भी इंस्टेंटली कर सकते हो।

अगर आप इसमें साइन अप करते हो तो आपको साइन उप करने पर 50 रुपये की बिटकॉइन फ्री में मिलेंगे और अगर आपको क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) के बारे में ज्यादा जानना है तो आप इनके बिटकॉइन के स्पेशल यूट्यूब चैनल को भी विजिट कर सकते हैं।

दोस्तों आज हमने बिटकॉइन क्या है | Bitcoin Kya Hai, बिटकॉइन कैसे काम करती है और बिटकॉइन कितनी सुरक्षित है, पूरी जानकारी हिंदी में समझी है। अगर आपको आज की ये जानकारी सरल भाषा में समझ में आई हो तो इसको अपने फ्रेंड्स और फॅमिली के साथ जरूर शेयर करे। और अगर इस तरह की जानकारी हर रोज पाना चाहते है तो हमें फॉलो भी कर सकते है।

दोस्तो आशा करता हूं कि आज आप सब को इस आर्टिकल से कुछ नया और हेल्पफुल सीखने जरूर मिला होगा और अगर हमसे इस आर्टिकल में कोई गलती हो गई हो तो भी आप हमें कमेंट करके जरूर बताए। हम जल्दी ही उसको सुधारने की कोशिश करेंगे। धन्यवाद

***FAQ For Bitcoin***

प्रश्न 1: Bitcoin में कैसे invest करें?

उत्तर – बिटकॉइन में क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के जरिए निवेश किया जा सकता है। वजीरएक्स (WazirX), कॉइनडीसीएक्स (Coindex), जेबपे Zebpay, कॉइनस्विच कुबेर (Coin Switch Kuber) और यूनोकॉइन UnoCoin इसके प्रमुख एक्सचेंज हैं। वजीरएक्स की स्थापना 2017 में हुई थी। बाद में इसे बिनांस होल्डिंग्स ने इसका अधिग्रहण कर लिया था।

प्रश्न 2: Bitcoin कैसे बनता है?

उत्तर – दरअसल बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट Santoshi है और 1 Bitcoin = 10,00,00,000 (करोड़) Santoshi होता है. जैसे Indian Currency में 1 रूपए = 100 पैसे होते है l बैसे ही 10 करोड़ Santoshi से मिलकर एक बिटकॉइन बनता है l मतलब आप 1 बिटकॉइन को 8 डेसीमल तक ब्रेक कर सकते है l आप 0.0001 Bitcoin भी यूज़ कर सकते है.

प्रश्न 3: Bitcoin कैसे काम करता है?

उत्तर – Bitcoin का इस्तेमाल अलग-अलग online transactions में किया जाता है। ये P2P network पर काम करता हैं। आजकल online developers, NGOs इसका इस्तेमाल online transaction के लिए करते हैं। Online payment जैसे हम bank में transaction करते हैं, हम पता लगा सकते है किसे payment की है

प्रश्न 4: बिटकॉइन में कैसे निवेश करें?

उत्तर – डिजिटल/क्रिप्टो कर्रेंसीज़ में निवेश करना काफी आसान है। आप 30 मिनट से कम समय में बिटकॉइन में निवेश शुरू कर सकते हैं। आपको बस एक मोबाइल फोन और पैनकार्ड / आधार कार्ड की आवश्यकता है। बिटकॉइन को ऑनलाइन खरीदते हैं और एक डिजिटल वॉलेट में संग्रहीत करते हैं।

प्रश्न 5: शुरुआत में बिटकॉइन की कीमत कितनी थी?

उत्तर – कब हुई थी बिटक्वाइन की शुरुआत? बिटक्वाइन की शुरुआत साल 2009 में हुई थी, जो कि अब इतनी अधिक लोकप्रियता हासिल कर चुकी है कि इसकी एक बिटक्वाइन की कीमत 50 लाख रुपये के करीब पहुंच गई है। गौरतलब है कि इस करेंसी पर कोई सरकारी नियंत्रण नहीं हैं। इसका इस्तेमाल डिजिटल दुनिया में ही होता है।

प्रश्न 6: क्या Cryptocurrency में निवेश करना Safe है?

उत्तर – Cryptocurrency latest news: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर दुनियाभर में हल्ला मचा है. कुछ देशों में इसे लीगल टेंडर माना है. वहीं, कहीं पूरी तरह से बैन है. हालांकि, कुछ देश ऐसे भी हैं, जहां इस पर कोई सफाई नहीं है

प्रश्न 7: बिटकॉइन का मालिक कौन है?

उत्तर – वर्तमान में संसार में बिटकॉइन बहुत लोकप्रिय हो रहा है। इसका आविष्कार सातोशी नकामोतो नामक एक अभियन्ता ने 2008 में किया था और 2009 में ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में इसे जारी किया गया था।


Share This Information

Leave a Reply