--> Skip to main content

Rakesh Jhunjhunwala Portfolio: राकेश झुंझुन वाला को Zee एंटरटेनमेंट को खरीदने के बाद 20 करोड़ का मुनाफा

Rakesh-Jhunjhunwala-Portfolio
Rakesh Jhunjhunwala Portfolio

Rakesh Jhunjhunwala Portfolio: राकेश झुंझुन वाला को Zee एंटरटेनमेंट को खरीदने के बाद 20 करोड़ का मुनाफा 

Rakesh Jhunjhunwala Portfolio: एक खबर में खुलासा हुआ है की Zee Entertainment Enterprises Ltd. (NS:ZEE) के शेयर में  मंगलवार यानि 14 सितम्बर को कम से कम 40% से भी ज्यादा का चढ़ाव हुआ है। और ये न्यूज़ आई है की प्रमुख सभी निवेशकों ने मिलकर एक असाधारण आम बैठक (EGM) का गठन किया है। 

कम्पनी के सबसे बड़े शेयर करने वाले धारको इन्वेस्को डेवलपिंग मार्केट्स फंड और OFI ग्लोबल चाइना फंड LLC द्वारा बुलाई गई ईजीएम का लक्ष्य कुछ अन्य निदेशकों के साथ MD और सीईओ पुनीत गोयनका ( SEO Punit Goyanka ) को हटाने पर चर्चा करना था।  

मंगलवार 14 सितम्बर को Zee स्टॉक 40.06% ऊपर 261.7 रुपया पर बंद हो गया था। लेकिन एक स्टॉक फाईलिंग से से मालूम हुआ की राकेश झुंझुन वाला के रेयर इंटरप्राइजेज ने "Rare Enterprises" ने BSE पर ZEE Entertainment   के 50 लाख शेयर (50 Lakh Share) 220.44 रूपये के हिसाब से ख़रीदे है। और ये कंपनी के 0.52% का प्रतिनिधित्व करता है। 

आपको बतादे की इस समय का बहुत फायदा हुआ और शेयर 41.26 रूपये से भी ऊपर का चढाव पार कर गया। इसी कारण रेयर एंटरप्राइजेज को सिर्फ एक दिन में 20.63 करोड़ रुपये का अनुमानित फायदा हुआ है। 

यहाँ तक की बैंक ऑफ अमेरिका (एनवाईएसई: बीएसी) सिक्योरिटीज यूरोप एसए ने भी ZEE Entertainment में 236.2 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 48,65,513 इक्विटी शेयर का मुनाफा किया है। 

ज़ी एंटरटेनमेंट के शेयर धारको द्वारा एक अहम् फैसला लिया गया है गोयनका, मनीष चोखानी और अशोक कुरियन को इस कंपनी के निदेशक पद से हाथो हाथ यानि तुरंत बर्खास्त करने की अपील की है। यहाँ तक की कुरियन और चोखानी ने तो तुरंत के प्रभाव से ही अपना इस्तीफा दे दिया है। 

इसी बीच बोर्ड के लिए शेयरधारकों ने छह नए निदेशकों के नाम घोषित किए हैं जो इस प्रकार है -

  1. नैना कृष्ण मूर्ति
  2. गौरव मेहता
  3. सुरेंद्र सिंह सिरोही
  4. अरुणा शर्मा
  5. रोहन धमीजा
  6. श्रीनिवास राव अडेपल्ली

और बाजार विश्लेषकों का ये भी मानना है की किये गए सुधर यानि की नए निवेशकों से कंपनी में कॉरपोरेट गवर्नेंस में बाहर अच्छा सुधार देखने को मिलेगा। 

और आगे पढ़े